Click here for Myspace Layouts

समर्थक

सोमवार, 28 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' अवसर का इस्‍तेमाल ''''

अवसर तो सभी को जिन्‍दगी में मिलते हैं,
किंतु उनका सही वक्‍त पर सही तरीके से
इस्‍तेमाल कुछ ही कर पाते हैं .......।

- श्रीराम शर्मा

शुक्रवार, 25 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' प्रतिभा के लक्षण ''

प्रतिभा का अर्थ है बुद्धि में नई कोंपले फूटते
रहना, नई कल्‍पना, नया उत्‍साह, नई खोज
और नई स्‍फूर्ति प्रतिभा के लक्षण हैं ......।


- विनोबा

बुधवार, 23 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' तुम्‍हारा युग ''

कलियुग में रहना है या सतयुग में,
यह तुम स्‍वयं चुनो तुम्‍हारा युग
तुम्‍हारे पास है .........।

- विनोबा

सोमवार, 21 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' यश की रक्षा ''

यशस्वियों का कर्तव्‍य है कि जो अपने से

होड़ करे उससे अपने यश की रक्षा भी करें ।


- कालिदास

शुक्रवार, 18 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' बच्‍चे ''

बच्‍चे कोरे कपड़े की तरह होते हैं,
जैसा चाहो वैसा रंग लो उन्‍हें निश्चित
रंग में केवल डुबो देना पर्याप्‍त है ....।


- सत्‍यसाईं बाबा

गुरुवार, 17 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' उत्‍साह ''

हताश न होना सफलता का मूल है और,
यही परम सुख है, उत्‍साह मनुष्‍य को
कर्मों के लिये प्रेरित करता है और उत्‍साह
ही कर्म को सफल बनाता है .......।


- वाल्‍मीकि

मंगलवार, 15 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' अपनी छाया में ''

वृक्ष अपने सिर पर गरमी सहता है पर अपनी,
छाया में दूसरों का ताप दूर करता है .........।


- तुलसीदास

शुक्रवार, 11 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' नियंत्रण ''

आप हमेशा परिस्थितियों को नियंत्रित,
नहीं कर सकते, लेकिन आप खुद को
जरूर नियंत्रित कर सकते हैं .....।

- एंथनी रोबिन्‍स

बुधवार, 9 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' सबसे बड़ा पाप ''

झूठ सबसे बड़ा पाप है, झूठ की थैली में अन्‍य सभी
पाप समा सकते हैं, झूठ को छोड़ दो तो तुम्‍हारे
अन्‍य पाप कर्म धीरे-धीरे स्‍वत: ही छूट जाएंगे ।


- गौतम बुद्ध

सोमवार, 7 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' एकरूपता ''

उदय होते समय सूर्य लाल होता है,
और अस्‍त होते समय भी, इसी प्रकार
सम्‍पत्ति और वि‍पत्ति के समय महान
पुरूषों में एकरूपता होती है ........।

- कालिदास

शुक्रवार, 4 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' तीन रत्‍न ''

पृथ्‍वी पर तीन रत्‍न हैं। जल, अन्‍न और
सुभाषित लेकिन अज्ञानी पत्‍थर के
टुकड़े को ही रत्‍न कहते हैं ....।

- कालिदास

मंगलवार, 1 फ़रवरी 2011

आज का सद़विचार '' सही और गलत ''

गलत को गलत कहना हमें आसान नहीं लगता,
सही इतना कमजोर होता है इतना अकेला कि,
उसके खिलाफ ही जंग का ऐलान आसान लगता है ।


- रश्मि प्रभा

विचारों की श्रृंखला में यह सच्चा एवं प्रेरक विचार ...