Click here for Myspace Layouts

समर्थक

शनिवार, 31 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' जैसा कर्म ''

सारा विश्‍व कर्मों की प्रधानता पर आधारित है, 
जो जैसा कर्म करता है, वैसा ही परिणामस्‍वरूप 
फल पाता है ............। 

- रामचरित मानस 

गुरुवार, 29 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' अनुशासित ''

जो अनुशासित नहीं है वही आश्‍वासन देता है, 
जो अनुशासित होता है, वह क्रियान्वित होता है .... 

- अज्ञात

सोमवार, 26 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' साहस का संचार ''

विश्‍व में आधे से अधिक लोग तो इसलिए असफल हो जाते हैं कि
समय पर उनमें साहस का संचार नहीं हो पाता और वे भयभीत हो उठते हैं .

- स्‍वामी विवेकानन्‍द

शुक्रवार, 23 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' धर्म का अभिप्राय ''

धर्म का अभिप्राय पूजा पद्धति नहीं, 
अपितु पूर्ण कर्तव्‍यपूर्ति है ... !!!

- राजा राममोहन राय 

सोमवार, 19 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' समान रूप से ''

चरित्र और शैक्षणिक सुविधाएं ही वह पूंजी हैं, 
जो माता-पिता अपनी संतान में समान रूप से 
स्‍थानांतरित कर सकते हैं ... !

-- महात्‍मा गांधी

शनिवार, 17 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' प्रेम का प्रभाव ''

प्रेम का प्रभाव और अनुभूति अद्भुत होती है, 
प्रेम का स्‍पर्श पाते ही सब कवि बन जाते हैं ..!!

- प्‍लेटो

शुक्रवार, 16 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' अनुभव ''

जैसे दीपक का प्रकाश घने अंधकार के बाद दिखाई देता है, 
उसी प्रकार सुख का अनुभव भी दु:ख के बाद ही होता है ... !!

- शूद्रक 

मंगलवार, 13 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' बैर के कारण ''

बैर के कारण उत्‍पन्‍न होने वाली आग,
एक पक्ष को स्‍वाहा किए बिना कभी शांत नहीं होती .. 

- वेद व्‍यास

सोमवार, 12 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' अनुगमन ''

यदि तुम्‍‍हें अपने चुने हुए रास्‍ते पर विश्‍वास है, 
यदि इस पर चलने का साहस है, यदि इसकी 
कठिनाइयों  को जीत लेने की शक्ति है, तो रास्‍ता 
तुम्‍हारा अनुगमन करता है .....!!

- धीरूभाई अंबानी

शुक्रवार, 9 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' कोई भी ''

हर कोई दुनिया बदलने की सोचता है लेकिन 
कोई भी अपने आपको बदलने की नहीं सोचता ... !!!

- लियो टॉलस्‍टाय 

गुरुवार, 8 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' प्रेम -शक्ति - साहस ''

दूसरा अत्‍यधिक प्रेम करे तो आपको शक्ति मिलती है, 
आप दूसरे को अत्‍यधिक प्रेम करें तो आपको साहस मिलता है ... !!!

- डब्‍ल्‍यू सोमरेट मोघम

बुधवार, 7 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' नहीं परख पाते ''

लोगों के विवेक की आंखे फूट गई हैं वे संत-असंत नहीं परख पाते, 
जिनके साथ में दस - बीस साधु वेषधारी या मनुष्‍य हो गये,
उन्‍हीं का नाम महन्‍त हो गया .... । 

- कबीरदास जी

सोमवार, 5 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' बड़प्‍पन ''

मनुष्‍य का बड़प्‍पन धन-संपत्ति में नहीं बल्कि 
सबके हित में कार्य करने में छिपा होता है ... ।

- महात्‍मा गांधी

शुक्रवार, 2 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' सच कहते हैं ''

यदि आप सच कहते हैं तो आपको 
कुछ याद रखने की जरूरत नहीं रहती ... 

-मार्क ट्वेन 

गुरुवार, 1 दिसंबर 2011

आज का सद़विचार '' प्रेम ''

आप किसी से इसलिए प्रेम नहीं करते, 
क्‍योंकि वे खूबसूरत हैं बल्कि वे खूबसूरत हैं, 
क्‍योंकि आप उनसे प्रेम करते हैं .... । 

-अज्ञात