Click here for Myspace Layouts

समर्थक

बुधवार, 12 दिसंबर 2012

आज का सद़विचार '' प्रेम उससे अधिक ''

नफ़रत जितनी चिंगारियों को बुझाती है, 
प्रेम उससे अधिक चिंगारियां पैदा करता है ... 

- अज्ञात 
 

बुधवार, 5 दिसंबर 2012

आज का सद़विचार '' आराम की जिंदगी ''

अगर आप आराम की जिंदगी चाहते हैं 
तो आपको कुछ परेशानी तो उठानी ही होगी ...

- अज्ञात


मंगलवार, 20 नवंबर 2012

आज का सद़विचार '' अहंकार और दुख ''

अहंकार और दुख से बढ़कर 
वैभव के लिए घातक बाधा 
दूसरी कोई नहीं है ... 

- गोल्‍ड स्मिथ 

मंगलवार, 6 नवंबर 2012

आज का सद़विचार '' सहजता से सलाह ''

इंसान जितनी सहजता से सलाह देता है, 
उतनी सहजता से और कुछ नहीं देता ... 

- ला रोचेफोकोल्‍ड

शुक्रवार, 26 अक्तूबर 2012

आज का सद़विचार '' मौन ''

मौन रहो और अपनी सुरक्षा करो, 
मौन कभी तुम्‍हारे साथ विश्‍वासघात नहीं करेगा ... 

- जान ब्रायल

शुक्रवार, 19 अक्तूबर 2012

आज का सद़विचार '' उपासक ''

देवता न बड़ा होता है, न छोटा 
न शक्तिशाली होता है न अशक्‍त 
वह उतना ही बड़ा होता है 
वह उतना ही बड़ा होता है 
जितना बड़ा उसे उपासक बनाना चाहता है .... 

- हजारी प्रसाद द्विवेदी


मंगलवार, 9 अक्तूबर 2012

आज का सद़विचार '' छोटे बनकर रहो ''

दूब की तरह छोटे बनकर रहो, 
जब घास-पात जल जाते हैं 
तब भी दूब जस की तस बनी रहती है ..
- गुरू नानक देव

शुक्रवार, 5 अक्तूबर 2012

आज का सद़विचार '' क्षमा ''

विनय अपयश का नाश करता है, पराक्रम अनर्थ को दूर करता है, 
क्षमा सदा ही क्रोध का नाश करती है और सदाचार कुलक्षण का अंत करता है ...

- श्रीराम शर्मा आचार्य 

सोमवार, 1 अक्तूबर 2012

आज का सद़विचार '' सब हमारे अंदर ''

स्‍वर्ग और पृथ्‍वी सब हमारे ही अंदर है। हम पृथ्‍वी से तो परिचित हैं, 
पर अपने अंदर के स्‍वर्ग से बिल्‍कुल अंजान रहते हैं ... 

- महात्‍मा गांधी 

सोमवार, 24 सितंबर 2012

आज का सद़विचार '' हर वस्‍तु एक चमत्‍कार है ''

अपना जीवन जीने के केवल दो ही तरीके हैं 
पहला यह मानना कि कोई चमत्‍कार नहीं होता है 
दूसरा कि हर वस्‍तु एक चमत्‍कार है ... 

- अल्‍बर्ट आइन्‍सटीन 


गुरुवार, 20 सितंबर 2012

आज का सद़विचार '' दुर्भाग्‍य अधिक अच्‍छा ''

मूर्ख व्‍यक्ति की समृद्धता से समझदार व्‍यक्ति का 
दुर्भाग्‍य अधिक अच्‍छा होता है ... 

- अज्ञात


सोमवार, 17 सितंबर 2012

आज का सद़विचार '' नियमों का विधान ''

नियमों का विधान मनुष्‍य के लिए किया गया है, 
मनुष्‍य का निर्माण नियम के लिए नहीं हुआ है ... 

- स्‍वामी रामतीर्थ

बुधवार, 12 सितंबर 2012

आज का सद़विचार '' वाणी में सुई ''

वाणी में सुई भले ही रखो पर उसमें धागा डालकर रखो, 
ताकि सुई केवल छेद ही न करे, आपस में जोड़कर भी रखे ... 

- मुनिश्री तरूण सागर

गुरुवार, 6 सितंबर 2012

आज का सद़विचार '' आप इन्‍द्रधनुष चाहते हैं तो ''

अगर आप इन्‍द्रधनुष चाहते हैं तो, 
तो आपको वर्षा का सामना करना ही होगा ... 

- अज्ञात 

शुक्रवार, 31 अगस्त 2012

आज का सद़विचार '' अपने चुने हुए रास्‍ते ''

यदि तुम्‍हें अपने चुने हुए रास्‍ते पर विश्‍वास है, 
यदि इस पर चलने का साहस है, 
यदि इसकी कठिनाइयों को जीत लेने की शक्ति है, 
तो रास्‍ता तुम्‍हारा अनुगमन करता है ... 
- अज्ञात

मंगलवार, 28 अगस्त 2012

आज का सद़विचार '' उत्तम विजय प्रेम की ''

सबसे उत्तम विजय प्रेम की है, 
जो सदैव के लिए विजेताओं का ह्रदय बांध लेती है ... 

- सम्राट अशोक 

सोमवार, 27 अगस्त 2012

आज का सद़विचार '' विश्‍वास ''

विश्‍वास ह्रदय की वह कलम है जो , 
स्‍वर्गीय वस्‍तुओं को चित्रित करती है  ... 

- अज्ञात

शुक्रवार, 24 अगस्त 2012

आज का सद़विचार '' विवेक जीवन का नमक ''

विवेक जीवन का नमक है और कल्‍पना उसकी मिठास, 
एक जीवन को सुरक्षित रखता है और दूसरा उसे मधुर बनाता है 

- अज्ञात

मंगलवार, 21 अगस्त 2012

आज का सद़विचार '' निंदा सुननी भी नहीं ''

ज्ञानदाता गुरू की निंदा करना तो दूर, 
निंदा सुननी भी नहीं चाहिए ... 

- चाणक्‍य 

शनिवार, 18 अगस्त 2012

आज का सद़विचार '' अपना कलंक ''

चंद्रमा अपना प्रकाश संपूर्ण आकाश में फैलाता है, 
परंतु अपना कलंक अपने ही पास रखता है ... 

- रवीन्‍द्र

सोमवार, 13 अगस्त 2012

आज का सद़विचार '' शत्रु या मित्र ''

ना तो कोई किसी का मित्र है ना ही शत्रु है, 
व्‍यवहार से ही शत्रु या मित्र बनते हैं ... 

- हितोपदेश

गुरुवार, 9 अगस्त 2012

आज का सद़विचार '' कर्म का अहसानमंद ''

कर्म वह आईना है जो हमारा स्‍वरूप हमें दिखा देता है, 
इसलिए हमें कर्म का अहसानमंद होना चाहिए ... 

- विनोबा भावे

सोमवार, 6 अगस्त 2012

आज का सद़विचार '' बैर के कारण ''

बैर के कारण उत्‍पन्‍न होने वाली आग 
एक पक्ष को स्‍वाहा किए बिना कभी शांत नहीं होती ... 

- वेदव्‍यास

शनिवार, 4 अगस्त 2012

आज का सद़विचार '' सीखना ''

बुद्धिमान व्‍यक्ति उस समय सीखते हैं जब वे ऐसा कर सकते हैं, 
लेकिन मूर्ख व्‍यक्ति तब सीखते हैं जब उनके लिए ऐसा करना 
बहुत जरूरी हो जाता है 


-अज्ञात 

सोमवार, 30 जुलाई 2012

आज का सद़विचार '' आस्‍था एवं दृष्टि ''

कर्मों का फल अवश्‍य मिलता है, पर हमारी इच्‍छानुसार नहीं, 
कार्य के प्रति हमारी आस्‍था एवं दृष्टि के अनुसार ... 

- कबीर

गुरुवार, 26 जुलाई 2012

आज का सद़विचार '' यह गुण ''

आदमी, औरत से ज्‍यादा निस्‍वार्थ कभी नहीं हो सकता, 
क्‍योंकि कुदरत ने ही औरत को यह गुण कहीं ज्‍यादा दिया है ... 

- महात्‍मा गांधी

गुरुवार, 19 जुलाई 2012

प्रेम अंधा क्‍यों होता है ???

आपको पता है प्रेम अंधा क्‍यों होता है?
क्‍योंकि आपकी माता ने आपका चेहरा देखने से पहले 
आपसे प्रेम करना शुरू कर दिया था ... !!!

- स्‍वामी विवेकानन्‍द

सोमवार, 16 जुलाई 2012

आज का सद़विचार '' न्‍याय और नीति ''

न्‍याय और नीति लक्ष्‍मी के खिलौने हैं, 
वह जैसे चाहती है नचाती है ... 

- प्रेमचंद

शुक्रवार, 13 जुलाई 2012

आज का सद़विचार '' शत्रु और मित्र ''

थोड़े दिन रहने वाली विपत्ति अच्‍छी है क्‍योंकि 
उसी से शत्रु और मित्र की पहचान होती है ... 

- रहीम

बुधवार, 11 जुलाई 2012

आज का सद़विचार '' जरूरत पड़ने पर ''

पुस्‍तक में लिखी विधा और दूसरे के पास जमा धन 
ये दोनो जरूरत पड़ने पर काम नहीं आते ... 

- चाणक्‍य

शनिवार, 7 जुलाई 2012

आज का सद़विचार '' हाथ अनुभव से खाली ''

जो बिना ठोकर खाए मंजिल तक पहुंच जाते हैं, 
उनके हाथ अनुभव से खाली रह जाते हैं ... 

- अज्ञात

शनिवार, 30 जून 2012

आज का सद़विचार '' आँसू भरी आंखे ''

यदि तुम जीवन से सूर्य के जाने पर रो पड़ोगे
 तो आँसू भरी आंखे सितारे कैसे देख सकेंगी

- रवीन्‍द्रनाथ ठाकुर

बुधवार, 27 जून 2012

आज का सद़विचार '' नाव जल में ''

नाव जल में रहे लेकिन जल नाव में नहीं रहना चाहिए, 
इसी प्रकार साधक जग में रहे लेकिन जग साधक के 
मन में न‍हीं रहना चाहिए ... 

- रामकृष्‍ण परमहंस

बुधवार, 20 जून 2012

आज का सद़विचार '' नियम के अधीन ''

जीवन को नियम के अधीन कर देना ही, 
आलस्‍य पर विजय पाना है .... 

- स्‍वामी विवेकानन्‍द

 

शुक्रवार, 15 जून 2012

आज का सद़विचार '' जीवन का एक हिस्‍सा ''

धन को बर्बाद करने पर आप केवल बर्बाद होते हैं, 
लेकिन समय को बर्बाद करने पर आप जीवन का 
एक हिस्‍सा नष्‍ट कर देते हैं ... 

-मिशेल लोबाएफ

सोमवार, 11 जून 2012

आज का सद़विचार '' इच्‍छाओं का संघर्ष ''

इच्‍छाओं का संषर्घ यह प्रकट करता है 
कि जीवन व्‍यवस्थित होना चाहता है ... 

- खलील जिब्रान 

सोमवार, 4 जून 2012

आज का सद़विचार '' वह गुलाम है ''

जिसकी अपनी कोई राय नहीं होती है, 
बल्कि दूसरों की राय और रूचि पर 
निर्भर रहता है, वह गुलाम है ... 

- क्‍लॉपस्‍टॉक


शुक्रवार, 1 जून 2012

आज का सद़विचार '' हितकारी अवसर ''

क्षण भर के लिए हितकारी अवसर आता है, 
हम उसे खो देते हैं और महीनों तथा वर्षों का 
नाश हो जाता है ...

- कार्लाइल

बुधवार, 30 मई 2012

आज का सद़विचार '' मुस्‍कान पाने वाला ''

मुस्‍कान पाने वाला मालामाल हो जाता है, 
पर देने वाला दरिद्र नहीं होता ... 
- अज्ञात

सोमवार, 28 मई 2012

आज का सद़विचार '' रचना का जन्‍म ''

लगन और योग्‍यता एक साथ मिलें तो  निश्‍चय ही
 एक अद्वितीय रचना का जन्‍म होता है ... 

- मुक्‍ता 

शुक्रवार, 25 मई 2012

आज का सदविचार '' कर्म के रंग ''

मनुष्‍य जितना ज्ञान में घुल गया हो, 
उतना ही कर्म के रंग में रंग जाता है ... 

- विनोबा

बुधवार, 23 मई 2012

आज का सद़विचार '' रंग का जादू ''

रंग में वह जादू है तो रंगने वाले, भीगने वाले और 
देखने वाले तीनों के मन को भावविभोर कर देता है ... 

- मुक्‍ता

सोमवार, 21 मई 2012

आज का सद़विचार '' अभिमान का त्‍याग ''

जिस त्‍याग से अभिमान उत्‍पन्‍न होता है, 
वह त्‍याग नहीं, त्‍याग से शांति मिलनी चाहिए, 
अंतत: अभिमान का त्‍याग ही सच्‍चा त्‍याग है ... 

- विनोबा भावे


शनिवार, 19 मई 2012

आज का सद़विचार '' आस्‍था का मूल्‍य ''

उस आस्‍था का कोई मूल्‍य नहीं, 
जिसे आचरण में न लाया जा सके ... 

- महात्‍मा गांधी

गुरुवार, 17 मई 2012

आज का सद़विचार '' क्रोध या चिंता से

मनुष्‍य सुबह से शाम तक काम करके 
इतना नहीं थकता, जितना क्रोध या चिंता से 
एक घंटे में थक जाता है ... 

- जेम्‍स ऐलन

सोमवार, 14 मई 2012

आज का सद़विचार '' मौन रहने से ''

मेहनत करने से दरिद्रता नहीं रहती, 
धर्म करने से पाप नहीं रहता, मौन रहने से 
कलह नहीं होती और जागते रहने से भय नहीं होता ... 

- चाणक्‍य

मंगलवार, 8 मई 2012

आज़ का सद़विचार '' खूबसूरत सौग़ात ''

बेटी तो  इस संसार में मिल सकने वाली 
सबसे खूबसूरत सौग़ातों में से है ... 

- लॉरेन एथर्टन


शनिवार, 5 मई 2012

आज का सद़विचार '' सरल व ईमानदार ''

व्‍यक्तियों को जरूरत से ज्‍यादा 
सरल व ईमानदार नहीं होना चाहिए, 
सीधे तने के पेड़ सबसे पहले कटे जाते हैं ...

- चाणक्‍य

सोमवार, 30 अप्रैल 2012

आज का सद़विचार '' संयम की भूमि ''

जीवन की जड़ संयम की भूमि में जितनी गहरी जमती है, 
और सदाचार का जितना जल दिया जाता है उतना ही
जीवन हरा - भरा होता है और उसमें ज्ञान का 
मधुर फल लगता है .... 

- मुक्‍ता

गुरुवार, 26 अप्रैल 2012

आज का सद़विचार '' सोचता है ''

जो सोचता है कर पाएगा वह कर पाता है, 
और जो नहीं कर पाने की सोचता है वह
नहीं कर पाता है, यह एक अनवरत
निर्विवाद नियम है .... 

- पॉब्‍लो पिकासो

शनिवार, 21 अप्रैल 2012

आज का सद़विचार ''असंभव''

शुरू में वह कीजिए जो आवश्‍यक है, फिर वह जो संभव है 
और अचानक आप पाएंगे कि आप तो वह कर रहें हैं 
जो असंभव की श्रेणी में आता है ... 

- संत फ्रांसिस

बुधवार, 18 अप्रैल 2012

आज का सद़विचार '' अच्‍छा वक्‍ता ''

अच्‍छा वक्‍ता वह नहीं जो सुंदर बोलने वाला हो, अपितु वह है
 जिसका अंतरंग किसी विश्‍वास से ओतप्रोत हो ... 

 - इमर्सन 

सोमवार, 16 अप्रैल 2012

आज का सद़विचार '' महान बनने का अवसर ''

समय प्रत्‍येक व्‍यक्ति को महान बनने का
अवसर प्रदान करता है, यह व्‍यक्ति पर 
निर्भर करता है कि वह उसका लाभ 
कैसे उठा सकता है ... 

- लाल बहादुर शास्‍त्री 

बुधवार, 11 अप्रैल 2012

आज का सद़विचार '' सभी को घमंड होता है ''

प्रभुता महत्‍व और पद पाकर सभी को घमंड होता है, 
मनुष्‍य रूप में ऐसा कोई नहीं पैदा हुआ जो तीनों को 
पाकर नम्र रहे .... 

- रामचरित मानस 

सोमवार, 9 अप्रैल 2012

आज का सद़विचार ''नैतिक पहलू''

जीवन की दुर्घटनाओं में अक्‍सर 
बड़े महत्‍व के नैतिक पहलू छिपे हुए होते हैं ...

- प्रेमचंद 

बुधवार, 4 अप्रैल 2012

आज का सद़विचार '' देश को भय ''

देश को भय सदा मूर्ख और 
स्‍वार्थी लोगों से रहता है 
जानकारों से नहीं ...  

- गोपाल कृष्‍ण गोखले 

सोमवार, 2 अप्रैल 2012

आज का सद़विचार '' पीठ पीछे ''

मिलने पर मित्र का आदर करो, पीठ पीछे प्रशंसा करो 
और आवश्‍यकता के समय उसकी मदद करो ... 

- अज्ञात

शनिवार, 31 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' केवल हार ''

कर्म करने से हार और जीत दोनो हाथ लगती है 
लेकिन कर्म न करने से केवल हार ही हाथ लगती है ... 

- शतपथ ब्रामण 

गुरुवार, 29 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' क्रोध में कुछ पल ''

प्रेम में व्‍यक्ति हर पल, हर क्षण, चौबिस घंटे रह सकता है, 
लेकिन क्रोध में कुछ पल से ज्‍यादा नहीं रह सकता ... 

- स्‍वामी अवधेशानंद गिरी

सोमवार, 26 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' आत्‍मबल ''

दुनिया का अस्तित्‍व  शस्‍त्रबल पर नहीं, 
सत्‍य, दया और आत्‍मबल पर है .... 

- महात्‍मा गांधी 


शनिवार, 24 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' डांवाडोल ''

जीवन में कोई चीज़ इतनी 
हानिकारक और खतरनाक 
नहीं जितना डांवाडोल स्थिति 
में रहना .... 

- सुभाषचन्‍द्र बोस

सोमवार, 19 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' मानवीयता का साथ ''

कैसी भी विषम परिस्थिति में आदमी को 
मानवीयता का साथ नहीं छोड़ना चाहिए ... 

- महात्‍मा गांधी

शनिवार, 17 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' जब हम झुकते हैं ''

उड़ने की अपेक्षा जब हम झुकते हैं, 
तब विवेक के अधिक निकट होते हैं ... 

- अज्ञात

गुरुवार, 15 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' सीधी चाल ''

शतरंज के खेल में सीधी चाल चलते हुए प्‍यादा वज़ीर बन जाता है 
पर टेढ़ी चाल के कारण घोड़े को यह सम्‍मान नहीं मिलता ...

- रहीम

मंगलवार, 13 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' दुख और चुनौती ''

दुख को जो बोझ समझता है, उसका पतन हो जाता है, 
जो चुनौती समझकर स्‍वीकार करता है उसका ...
उत्‍कर्ष हो जाता है ... 

- आचार्य रामचन्‍द्र शुक्‍ल

सोमवार, 5 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' वह मां है ''

विश्‍व के निर्माण में जिसने सबसे अधिक, संघर्ष किया है
 और सबसे अधिक कष्‍ट उठाएं हैं वह मां है ... ... 

- हर्ष मोहन

गुरुवार, 1 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' अपनी भूलों को स्‍वीकारना ''

अपनी भूलों को स्‍वीकारना उस झाड़ू के समान है,
जो गंदगी को साफ कर उस स्‍थान को पहले से
अधिक स्‍वच्‍छ कर देती है .............

- महात्‍मा गांधी

शनिवार, 25 फ़रवरी 2012

आज का सद़विचार '' प्रतिज्ञा के बिना ''

प्रतिज्ञा के बिना जीवन उसी तरह है जैसे 
लंगर के बिना नाव या रेत पर बना महल ... 

- महात्‍मा गांधी 
 

शुक्रवार, 24 फ़रवरी 2012

आज का सद़विचार '' कार्य - धर्म - गुण ''

घृणा करना शैतान का कार्य है, 
क्षमा करना मनुष्‍य का धर्म है 
और प्रेम करना देवताओं का गुण है .... 

- भतृ‍हरि 

मंगलवार, 21 फ़रवरी 2012

आज का सद़विचार '' मौन रहना ''

व्‍यर्थ बोलने की अपेक्षा 
मौन रहना अच्‍छा है ...  

- स्‍वामी विवेकानन्‍द 

बुधवार, 15 फ़रवरी 2012

आज का सद़विचार '' विज्ञान के शब्‍दकोष में ''

अहिंसा एक विज्ञान है, विज्ञान के शब्‍दकोष में, 
असफलता का कोई स्‍थान नहीं है ... 

- महात्‍म गांधी

बुधवार, 8 फ़रवरी 2012

आज का सद़विचार '' आत्‍मविश्‍वास की नौका ''

धैर्यवान मनुष्‍य 
आत्‍मविश्‍वास की नौका पर सवार होकर, 
आपत्ति की नदियों को सफलता पूर्वक पार कर जाते हैं .... 

- भर्तृहरि


बुधवार, 1 फ़रवरी 2012

आज का सद़विचार '' सद़गुण ''

सद़गुण चीथड़ों में भी 
उतना ही शोभायमान होता है 
जितना भव्‍य वेशभूषा में ...

चार्ल्‍स डिकेंस

मंगलवार, 31 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' ज़हरीला प्‍याला ''

चापलूसी का ज़हरीला प्‍याला आपको तब तक, 
नुकसान नहीं पहुंचा सकता जब तक कि आपके 
कान उसे अमृत समझ कर पी न जाएं ........

-प्रेमचन्‍द

सोमवार, 30 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' मनुष्‍य का बड़प्‍पन ''

मनुष्‍य का बड़प्‍पन धन-सम्‍पत्ति में नहीं 
अपितु सबके हित में कार्य करने में छिपा होता है ....

- महात्‍मा गांधी

शनिवार, 28 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' हास्‍य वह यंत्र ''

हास्‍य वह यंत्र है, जिसके अभाव में
हमारा जीवनरूपी यंत्र बिगड़ जाता है..

- स्‍वामी रामतीर्थ

बुधवार, 25 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' लगन का महत्‍व ''

मानव जीवन में लगन का बड़ा महत्‍व है,
जिसमें लगन है वह वृद्ध भी जवान है लेकिन 
जिसमें लगन नहीं है वह जवान भी मृत जैसा है ।

- प्रेमचन्‍द

शनिवार, 21 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' ज्ञान प्रेम का ''

ज्ञान में प्रेम छिपा है और प्रेम ही जीवन का आधार है, 
अत: ज्ञान प्रेम का ही पर्याय है  ............. 

- स्‍वामी परमानन्‍द 

शुक्रवार, 20 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' प्रत्‍येक व्‍यक्ति से ''

जीवन में प्रत्‍येक व्‍यक्ति से 
शिक्षा ग्रहण की जा सकती है .. 
- दत्‍तात्रेय

बुधवार, 18 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' महान कार्य ''

बिना ज़ोश के आज तक कोई भी, 
महान कार्य नहीं ह‍ुआ ..... 
- सुभाष चन्‍द्र बोस

सोमवार, 16 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' कर्म करने पर ''

मनुष्‍य का कर्म करने पर अधिकार है, 
लेकिन उसका फल प्राप्‍त करने पर 
अधिकार नहीं है ........... 
- गीता

शुक्रवार, 13 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' जल के द्वारा अग्नि ''

जैसे जल के द्वारा अग्नि को शांत किया जाता है, 
वैसे ही ज्ञान से मन को शांत रखना चाहिए ...... 

- वेद व्‍यास


गुरुवार, 12 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' नमस्‍कार करना ''

नमस्‍कार करना एक वैज्ञानिक पद्धति है, 
जहां जुड़े हुए हाथ और चरणों में झुका हुआ माथा 
सकारात्‍मक ऊर्जा प्राप्‍त करता है ....................... 

- साधना योग

बुधवार, 11 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' शाला में ''

शाला में नया छात्र कुछ लेकर नहीं आता
और पुराना कुछ लेकर नहीं जाता फिर भी 
वहां ज्ञान का विकास होता है .... 
- अज्ञात


सोमवार, 9 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' निखरता है ''

कष्‍ट पड़ने पर भी साधु पुरूष मलिन नहीं होते जैसे 
सोने को जितना तपाया जाता है वह उतना ही निखरता है ... 

- कबीर




शुक्रवार, 6 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' अपनी छाया में ''

वृक्ष अपने सिर पर गर्मी सहता है पर 
अपनी छाया में  दूसरों का ताप दूर करता है ... 

- तुलसीदास 

बुधवार, 4 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' मौन ''

क्रोध को जीतने में मौन, जितना सहायक होता है, 
उतनी कोई भी वस्‍तु नहीं ... 

- महात्‍मा गांधी 

सोमवार, 2 जनवरी 2012

आज का सद़विचार '' गुण-दोषों का विवेचन ''

सब प्राचीन अच्‍छा और सब नया बुरा नहीं होता, 
बुद्धिमान पुरूष स्‍वयं परीक्षा द्वारा 
गुण-दोषों का विवेचन करते हैं ....।

- कालिदास