Click here for Myspace Layouts

समर्थक

गुरुवार, 10 अक्तूबर 2013

आज का सद़विचार '' मन की शक्ति ''

मनुष्‍य मन की शक्तियों के बादशाह हैं 
संसार की समस्‍त शक्तियां उनके सामने नतमस्‍तक हैं । 

- अज्ञात

रविवार, 29 सितंबर 2013

आज का सद़विचार '' त्‍याग का आदर्श ''

त्‍याग का आदर्श महान है 
और वही जगत में कुछ कर सकता है, 
जिसमें त्‍याग की मात्रा अधिक हो ....

-महावीर स्‍वामी 

बुधवार, 18 सितंबर 2013

आज का सद़विचार '' मिठास और स्‍वाद ''

खा‍तिरदारी में मिठास जरूर है 
मगर उसका ढकोसला करने में 
न तो मिठास है और न स्‍वाद । 
- शरतचन्‍द्र

मंगलवार, 27 अगस्त 2013

आज का सद़विचार ''महान उपलब्धियों के लिये''

महान उपलब्धियों के लिये ...
हमें कर्म ही नहीं करना चाहिये, स्‍वपन भी देखना चाहिये
योजना ही नहीं बनानी चाहिये, विश्‍वास भी करना चाहिये ...

- अनातोले फ्रांस

शुक्रवार, 2 अगस्त 2013

आज का सद़विचार 'अनुशासन'


कोई भी व्‍यक्ति जिसमें न तो थोपा गया अनुशासन है
ना ही आत्मा का अनुशासन, वह विकास की राह से 
विमुख हो जाएगा ... 
 - सीमा 'सदा'

शनिवार, 27 जुलाई 2013

आज का सद़विचार '' वर्तमान ही सब कुछ ''

मेरे लिये वर्तमान ही सब कुछ है...
भविष्‍य की चिंता ह‍में कायर बना देती है, 
भूत का भार हमारी कमर तोड़ देता है!

- प्रेमचंद

बुधवार, 17 जुलाई 2013

आज का सद़विचार '' वह शक्ति ''

मेरी दृढ़ धारणा है कि तुममें अंधविश्‍वास नहीं है, 
तुममें वह शक्ति विद्ममान है, जो संसार को हिला सकती है .. 

- स्‍वामी विवेकानंद

बुधवार, 26 जून 2013

आज का सद़विचार 'विश्‍वास'

जिसे अपने में विश्‍वास नहीं, 
उसे अपने भगवान में कभी भी विश्‍वास नहीं हो सकता !!

- स्‍वामी विवेकानंद

शनिवार, 15 जून 2013

आज का सद़विचार '' संस्‍कारों की भाषा ''

संस्‍कारों की भाषा सभ्‍यता की दहलीज़
लांघने से पहले हर शब्‍द के आगे
एक लक्ष्‍मण रेखा खींच देती है !

... सीमा 'सदा'

मंगलवार, 21 मई 2013

आज का सद़विचार '' स्‍वयं को वश में ''

जिसने स्‍वयं को वश में कर लिया है 
संसार की कोई  शक्ति उसकी विजय को 
पराजय में नहीं बदल सकती ... 

- महात्‍मा बुद्ध

शुक्रवार, 10 मई 2013

आज का सद़विचार '' योग्‍यता पर सन्‍देह ''

अपनी योग्‍यता पर सन्‍देह करने वाला व्‍यक्ति 
अपनी शक्तियो को घटाता है और इस प्रकार 
असफलता के साथ गठबंधन करता जाता है। 

- स्‍वेट मार्डन

शनिवार, 4 मई 2013

आज का सद़विचार '' सुकर्म बेटियों की तरह ''

गुनाह तो जनसंख्या की तरह बढ़ते हैं और सुकर्म बेटियों की तरह 
कभी भी कहीं भी ख़त्म कर दिए जाते हैं .... 
क्या हिसाब ! और क्या किताब !

- रश्मि प्रभा 

शनिवार, 27 अप्रैल 2013

आज का सद़विचार '' मरा कैसे जाता है ? ''

हम मौत को बुरा नहीं कहते, 
यदि हम जानते कि वास्‍तव में मरा कैसे जाता है ?

- गुरू नानक देव

मंगलवार, 23 अप्रैल 2013

आज का सद़विचार '' पुस्‍तकें ''

पुस्‍तकें बहुत खतरनाक होती हैं, 
क्‍योंकि ये आपका जीवन बदल सकती हैं  !!!

- हेलेन एक्‍सली

गुरुवार, 18 अप्रैल 2013

आज का सद़विचार '' जिन्‍दगी तो अपने दम़ पर ''

जिन्‍दगी तो अपने दम़ पर ही जी जाती है, 
दूसरों के कँधे पर तो सिर्फ़ ज़नाजे़ उठाये जाते हैं !

- भगत सिंह

मंगलवार, 16 अप्रैल 2013

आज का सदविचार '' प्रकृति निश्‍छल ''

जिन्‍दगी छल है 
प्रकृति निश्‍छल है 
हम छल से भी लेते हैं और सीखते हैं 
निश्‍छल से भी लेते हैं और सीखते हैं ... 
फिर हम प्रयोगवादी आदर्शवादी बन जाते हैं !
हम लेते हुए काट-छांट करने लगते हैं 
छल से देना स्‍वीकार नहीं होता 
कृत्रिम निश्‍छलता से बस अपने फायदे का लेखा-जोखा करते हैं 
और समाज सुधारक, विचारक बन जाते हैं !


- रश्मि प्रभा 

शुक्रवार, 5 अप्रैल 2013

आज का सद़विचार '' वाचालों को वाचाल होने दो ''

वाचालों को वाचाल होने दो !
वे इससे अधिक और कुछ नहीं जानते  !
उन्‍हें नाम, यश,धन, स्‍त्री से संतोष प्राप्‍त करने दो।

- स्‍वामी विवेकानंद

गुरुवार, 21 मार्च 2013

आज का सदविचार '' कड़े निर्णय ''

कभी कभी कड़े
निर्णय भी लेने पड़ते हैं
विरोध के
स्वर भी सहने होते हैं
निस्वार्थ और विवेक से
लिए निर्णय भी
कुछ लोगों को आहत
कर सकते हैं
निर्णय का उचित
अनुचित होना
समय ही सिद्ध करता
तब तक धैर्य रखना
पड़ता है 

- राजेन्‍द्र तेला

शुक्रवार, 15 मार्च 2013

आज का सद़विचार ''सर्वश्रेष्‍ठ बनने की आशा में ''

सर्वश्रेष्ठ बनने की
आशा में जीने वाले
इर्ष्या और होड़ को
धर्म मानने वाले
समुद्र में पथ से भटके हुए
ज़हाज जैसे होते
किनारे की तलाश में
निरंतर भटकते रहते
किनारा तो मिलता नहीं
थक हार कर चुक जाते
अंत में डूब जाते

 डा.राजेंद्र तेला,निरंतर
=

मंगलवार, 5 मार्च 2013

आज का सद़विचार '' यशरूपी धन ''

धन तो काल के साथ ही क्षय हो जाता है, लेकिन 
यशरूपी धन अक्षय है, इसे काल भी नष्‍ट नहीं कर सकता

- अज्ञात

शुक्रवार, 1 मार्च 2013

आज का सद़विचार '' विश्‍वास और प्रेम ''

विश्‍वास और प्रेम में एक समानता है, दोनों में से 
कोई भी जबरदस्‍ती पैदा नहीं किया जा सकता !!!

- अज्ञात

सोमवार, 18 फ़रवरी 2013

आज का सदविचार '' धैर्य की परिभाषा''

धैर्य की परिभाषा यदि
खामोशी अख्तियार करना है तो
इस परिभाषा को बदला जाना चाहिये
! !
- सीमा 'सदा'

गुरुवार, 14 फ़रवरी 2013

आज का सद़विचार '' प्रेम ''


प्रेम सबसे करो, भरोसा कुछ पर करो 
और नफ़रत किसी से न करो ... 

- ईसामसीह 

शुक्रवार, 18 जनवरी 2013

आज का सद़विचार '' जैसे हमारे विचार ''

जैसे हमारे विचार होते हैं, वैसे ही हमारी शारीरिक स्थिति होती है, अगर हम चाहें कि विचार के विपरीत हमारी शारीरिक स्थिति हो तो ऐसा होना बिल्‍कुल असंभव है .......... 

- स्‍वेट मार्डेन 

मंगलवार, 15 जनवरी 2013

आज का सद़विचार '' खुद को बदलने की ''

दुनिया बदलने के बारे में सभी सोचते हैं, लेकिन 
कोई खुद को बदलने की नहीं सोचता ... 

-अज्ञात 

शुक्रवार, 11 जनवरी 2013

आज का सद़विचार '' ज्ञान अध्‍ययन से ही ''

वस्‍तुएँ बल से छीनी या धन से खरीदी जा सकती हैं, 
किन्‍तु ज्ञान अध्‍ययन से ही प्राप्‍त हो सकता है .... 

- स्‍वामी विवेकानन्‍द

गुरुवार, 3 जनवरी 2013

आज का सद़विचार '' यह संदेश ''

प्रत्‍येक बालक यह संदेश लेकर आता है कि 
ईश्‍वर अभी मनुष्‍यों से नाराज़ नहीं हुआ है ... 

- रवीन्‍द्रनाथ टैगोर