Click here for Myspace Layouts

समर्थक

शनिवार, 3 अप्रैल 2010

आज का सद़विचार 'शिक्षा'

जो शिक्षा मनुष्‍य को संकीर्ण और स्‍वार्थी
बना देती है, उसका मूल्‍य किसी युग में
चाहे जो रहा हो, अब नहीं है ।

- शरतचन्‍द्र चट्टोपाघ्‍याय

2 टिप्‍पणियां:

यह सद़विचार आपको कैसा लगा अपने विचारों से जरूर अवगत करायें आभार के साथ 'सदा'