Click here for Myspace Layouts

समर्थक

शनिवार, 26 जून 2010

आज का सद़विचार ' समझदार'

जब तक शरीर स्‍वस्‍थ है, इन्द्रियों की
शक्ति क्षीण नहीं हुई तथा बुढ़ापा नहीं
आया है, तब तक समझदार को
अपने हित साध लेने चाहिए ।

- भर्तृहरि

1 टिप्पणी:

यह सद़विचार आपको कैसा लगा अपने विचारों से जरूर अवगत करायें आभार के साथ 'सदा'