Click here for Myspace Layouts

समर्थक

गुरुवार, 3 सितंबर 2009

आज का सद़विचार 'मनुष्‍यता'

मनुष्‍यता का एक पक्ष वह भी है,
जहां वर्ण, धर्म और देश को
भूलकर मनुष्‍य, मनुष्‍य के लिए
प्‍यार करता हैं ।

- जयशंकर प्रसाद

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

यह सद़विचार आपको कैसा लगा अपने विचारों से जरूर अवगत करायें आभार के साथ 'सदा'