Click here for Myspace Layouts

समर्थक

गुरुवार, 18 अगस्त 2011

आज का सद़विचार '' जीत और आदर्श ''

यह मत मानिए की जीत ही सब कुछ है अधिक महत्‍व
इस बात का है कि आप किसी आदर्श के लिए संघर्षरत हों, 
यदि आप किसी आदर्श पर डट नहीं सकते तो जीतेंगे क्‍या .... ?

- लेन कर्कलैंड

11 टिप्‍पणियां:

  1. आदर्शों पर टिकना मन की जीत है ....!!
    abhar.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ठीक कहा है ... आदर्शों के बिना जीत बेमानी है ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. सही कहा है आपने !सुन्दर प्रस्तुती!
    मेरे नए पोस्ट पर आपका स्वागत है-
    http://seawave-babli.blogspot.com/
    http://ek-jhalak-urmi-ki-kavitayen.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपको एवं आपके परिवार "सुगना फाऊंडेशन मेघलासिया"की तरफ से भारत के सबसे बड़े गौरक्षक भगवान श्री कृष्ण के जनमाष्टमी के पावन अवसर पर बहुत बहुत बधाई स्वीकार करें लेकिन इसके साथ ही आज प्रण करें कि गौ माता की रक्षा करेएंगे और गौ माता की ह्त्या का विरोध करेएंगे!

    मेरा उदेसीय सिर्फ इतना है की

    गौ माता की ह्त्या बंद हो और कुछ नहीं !

    आपके सहयोग एवं स्नेह का सदैव आभरी हूँ

    आपका सवाई सिंह राजपुरोहित

    सबकी मनोकामना पूर्ण हो .. जन्माष्टमी की आपको भी बहुत बहुत शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  5. आदर्शों पर टिकना मन की जीत है ... सही कहा..सुन्दर और सार्थक प्रस्तुति...आभार...

    उत्तर देंहटाएं

यह सद़विचार आपको कैसा लगा अपने विचारों से जरूर अवगत करायें आभार के साथ 'सदा'