Click here for Myspace Layouts

समर्थक

शनिवार, 31 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' केवल हार ''

कर्म करने से हार और जीत दोनो हाथ लगती है 
लेकिन कर्म न करने से केवल हार ही हाथ लगती है ... 

- शतपथ ब्रामण 

गुरुवार, 29 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' क्रोध में कुछ पल ''

प्रेम में व्‍यक्ति हर पल, हर क्षण, चौबिस घंटे रह सकता है, 
लेकिन क्रोध में कुछ पल से ज्‍यादा नहीं रह सकता ... 

- स्‍वामी अवधेशानंद गिरी

सोमवार, 26 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' आत्‍मबल ''

दुनिया का अस्तित्‍व  शस्‍त्रबल पर नहीं, 
सत्‍य, दया और आत्‍मबल पर है .... 

- महात्‍मा गांधी 


शनिवार, 24 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' डांवाडोल ''

जीवन में कोई चीज़ इतनी 
हानिकारक और खतरनाक 
नहीं जितना डांवाडोल स्थिति 
में रहना .... 

- सुभाषचन्‍द्र बोस

सोमवार, 19 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' मानवीयता का साथ ''

कैसी भी विषम परिस्थिति में आदमी को 
मानवीयता का साथ नहीं छोड़ना चाहिए ... 

- महात्‍मा गांधी

शनिवार, 17 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' जब हम झुकते हैं ''

उड़ने की अपेक्षा जब हम झुकते हैं, 
तब विवेक के अधिक निकट होते हैं ... 

- अज्ञात

गुरुवार, 15 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' सीधी चाल ''

शतरंज के खेल में सीधी चाल चलते हुए प्‍यादा वज़ीर बन जाता है 
पर टेढ़ी चाल के कारण घोड़े को यह सम्‍मान नहीं मिलता ...

- रहीम

मंगलवार, 13 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' दुख और चुनौती ''

दुख को जो बोझ समझता है, उसका पतन हो जाता है, 
जो चुनौती समझकर स्‍वीकार करता है उसका ...
उत्‍कर्ष हो जाता है ... 

- आचार्य रामचन्‍द्र शुक्‍ल

सोमवार, 5 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' वह मां है ''

विश्‍व के निर्माण में जिसने सबसे अधिक, संघर्ष किया है
 और सबसे अधिक कष्‍ट उठाएं हैं वह मां है ... ... 

- हर्ष मोहन

गुरुवार, 1 मार्च 2012

आज का सद़विचार '' अपनी भूलों को स्‍वीकारना ''

अपनी भूलों को स्‍वीकारना उस झाड़ू के समान है,
जो गंदगी को साफ कर उस स्‍थान को पहले से
अधिक स्‍वच्‍छ कर देती है .............

- महात्‍मा गांधी