Click here for Myspace Layouts

समर्थक

शनिवार, 7 मई 2011

आज का सद़विचार '' मित्र या शत्रु ''

ना तो कोई किसी का मित्र है
ना ही शत्रु है, व्‍यवहार से ही
मित्र या शत्रु बनते हैं ....।


- हितोपदेश

7 टिप्‍पणियां:

यह सद़विचार आपको कैसा लगा अपने विचारों से जरूर अवगत करायें आभार के साथ 'सदा'