Click here for Myspace Layouts

समर्थक

शनिवार, 20 जून 2009

आज का सद़विचार

जिन्‍दगी हमारे साथ खेल खेलती है, जो इसे
खेल नहीं मानते, वे ही एक दूसरे की
शिकायत व आलोचना करते हैं ।

- जैनेंद्र कुमार

2 टिप्‍पणियां:

  1. दोस्त कर तो कभी प्यार मुझको
    जिन्दगी हूं तेरी गुजार मुझको
    श्याम सखा ‘श्याम’
    मेरे ब्लॉग्स पर आप सादर आमंत्रित हैं
    http//:gazalkbahane.blogspot.com/
    and http//:katha-kavita.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं

यह सद़विचार आपको कैसा लगा अपने विचारों से जरूर अवगत करायें आभार के साथ 'सदा'