Click here for Myspace Layouts

समर्थक

शनिवार, 27 जून 2009

आज का सद़विचार 'लक्ष्‍य'

अपने सामने एक ही साध्‍य रखना चाहिए,
जब तक वह सिद्ध न हो तब तक उसी की,
धुन में मगन रहो, तभी सफलता मिलती है ।

- स्‍वामी विवेकानन्‍द

1 टिप्पणी:

यह सद़विचार आपको कैसा लगा अपने विचारों से जरूर अवगत करायें आभार के साथ 'सदा'