Click here for Myspace Layouts

समर्थक

गुरुवार, 9 जुलाई 2009

आज का सद़विचार 'लक्ष्‍मी'

लक्ष्‍मी शुभ कार्य से उत्‍पन्‍न होती है,
चतुरता से बढ़ती है, अत्‍यन्‍त निपुणता से,
जड़े जमाती है और संयम से स्थिर रहती है।

- महाभारत

2 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढ़िया बस इसी तरह हमारा ज्ञान बढाते रहियेगा धन्यवाद .

    उत्तर देंहटाएं

यह सद़विचार आपको कैसा लगा अपने विचारों से जरूर अवगत करायें आभार के साथ 'सदा'